Health is Wealth 

एक तूफ़ान नासिक से है आया , पलटाने हमारा मानसिक स्तर और हमारी काया , देखते ही देखते इस तूफ़ान ने हमे इस कदर जकडा , शायद हमारी स्कूल की टीचर ने भी कभी इतना कस के नही था पकड़ा ! हमारे मानस पटल पर प्रभाव छोड़ा इतना तगड़ा , हमारे हृदय को विशाल किया जो आज तक था संकडा ! इसिलिये तो बेंगलोर के इस शांत वातावरण में , खिंचे चले आए हम गुरू माँ की शरण में ! छह दिन के शिविर में मारा इतना हथौड़ा , हमारा नाता योग से हमेशा के लिये है जोड़ा ! योग से लाभ पाकर हमारा शरीर हो गया धन्य , करके पूरक ,कुम्भ , रूचक और शून्य , अब तो पूरे दिन हथोडे की मार सहते है क्योकी फ्रि समय में अब तो प्राणायाम ही करते रहते है , आपने सिखाया समय है अतुल्य , इसकी क़दर करोगे तो जानोगे जीवन का मूल्य ! और सिखाया हमें होश में रहना , एकाग्रता साबित होगी जीवन का सबसे बड़ा गहना ! स्मरण कराया हमारे जीवन में माँ का स्थान , ज्ञात होते हुए भी अभी तक थे अज्ञान , माँ ने हमें पालने में बहुत कष्ट है लिया , माँ को बदले में हमने क्या दिया , माँ की ममता की नहीं है कोई होड़, मित्रो , माँ का आँचल ही है हमारे जीवन का निचोड़ , अब प्रण लिजिऐ , रोज़ करोगे माँ -बाप से ढेर सारी बात , नहीं पियोगे चाय काँफी ,जब बैठोगे उनके साथ गुरू माँ ने सिखाया है कि भूल जाओ अतित , नहीं तो क्रोध पर पा नहीं सकते हो जीत , और कभी पड़ोसी से हो जाए तुम्हारी fight , यह मत कहना whatever happened it is all right , बल्कि गुरू माँ का यही है बाँचना , कि ऐसी परिस्ितथियो मे पड़ोसी को दिखाना क्षमा याचना ! आप सब हृदय में इच्छा उत्पन्न करो तीृव , प्रवचन में बताये हुए चार खम्भों की अवश्य डालो नींव ! आओ अंत में लेते है हम सब ये शपथ , कभी नहीं छोड़ेंगे गुरू माँ का बताया हुआ पथ !

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s