Mamaji Humare Dharohar

कुछ लोग छोड़ देते है सबके हृदय पर अमिट छाप , दुसरो के दुखों को समझते है अपना संताप , 

रिश्तों की गहराई को उनसे अच्छा , कौन सकता है माप 

ऐसे ही व्यकितत्व के धनी है प्रिय मामाजी आप ! 
परिश्रम और लग्न की पायी है आपने ऐसी धरोहर, 

पहाड़ जैसी कठिनाई को राई बना देते है आपके मधुर स्वर , 

कभी “ना ” कहते नहीं आपके अधर , 

इस अंदाज का कुछ कुछ हो रहा है हम पर भी असर ! 
अपने मार्गदर्शन से कितनों मे जगाये उम्मीदों के दीये , 

निस्वार्थ भाव से सेवा के अनूठे कार्य सम्पन्न है किये , 

निश्चल प्रेम देकर आप सदैव दुसरो के लिये जिये, 

सही माने मे प्रेरणा के स्तोत्र हैं आप सभी के लिये 
आपकी उर्जा को देखकर हम सब मे स्फूर्ती है आती , 

कुछ कर गुज़रने की दिल में है चाहत जाग जाती, 

निश्चित है कभी हमारे क्रर्मो से भी गर्व से फूलेगी आपकी छाती , 

और आपको समर्पित प्रेम और स्नेह से लिप्त यह पाँती , 
कि “कल ” भी चहक रहा था आपसे , 

“आज “भी महक रहा है आपसे 

आने वाला “कल” भी धड़केगा आपसे !

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s